Aaj Tak Samachar
News

रवींद्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय द्वारा नई शिक्षा नीति (एनईपी) के अनुरूप पाठ्यक्रम किए गए प्रारंभ

Rabindranath

रवींद्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय भारत का पहला कौशल-आधारित निजी विश्वविद्यालय है जो अब नई शिक्षा नीति के अनुरूप नए पाठ्यक्रमों की विस्तृत श्रृंखला पेश कर रहा है। कौशल-आधारित शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए एनईपी 2020 एक अभिनव पहल है जो बहु-विषयक शिक्षा को बढ़ावा देकर एक एतिहासिक शुरुआत का कार्य कर रही है।

नई शिक्षा नीति (एनईपी) के तहत शुरू किए गए पाठ्यक्रमों में बीबीए, बीएससी, बीसीए, बीए और बीकॉम शामिल हैं। एनईपी के अनुसार स्नातक की डिग्री या तो 3 या 4 साल की अवधि की होगी, जिसमें उपयुक्त प्रमाणपत्रों के साथ इस अवधि के भीतर कई एग्जिट के  विकल्प होंगे। 7.5 के सीजीपीए वाले छात्र चौथे वर्ष में शोध अध्ययन का विकल्प चुन सकते हैं। चार वर्षीय पाठ्यक्रम का विकल्प चुनने वाले छात्रों को केवल एक वर्षीय स्नातकोत्तर डिग्री प्राप्त करनी होगी।

नई शिक्षा नीति के अनुसार छात्रों को जॉब के अनुरूप कई कॉम्बीनेशन में पाठ्यक्रम उपलब्ध कराए जाते हैं जो उद्योग जगत में कौशल की मांग अनुरूप ही उन्हें तैयार करेगी। आने वाले वर्षों में छात्रों को एक समग्र शिक्षा तक पहुंच प्राप्त होगी जो भारत के प्रतिभा पूल में अभूतपूर्व बदलाव लाएगी।

पाठ्यक्रमों पर बोलते हुए आईसेक्ट के निदेशक, श्री सिद्धार्थ चतुर्वेदी ने कहा, “कौशल-आधारित शिक्षा के क्षेत्र में बतौर अग्रणी संस्थान के रूप में आरएनटीयू पूरे भारत में छात्रों के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। बदलते समय के साथ शिक्षा का ध्यान बुनियादी शिक्षा प्रदान करने से हटकर शिक्षा को अधिक रोजगारपरक बनाने पर केंद्रित हो गया है। समय की मांग है कि विश्वविद्यालय एनईपी के साथ तालमेल बिठाए और छात्रों को भविष्य के लिए तैयार एम्पलॉयी बनने में मदद करें।

एनईपी पाठ्यक्रमों का नवीन आयाम यह है कि इसमें संरचनात्मक और कार्यात्मक परिवर्तनों के जरिए सीखने की प्रक्रिया को आसान बनाने का कार्य किया गया है। इससे व्यावसायिक शिक्षा और प्रशिक्षण को अतिरिक्त प्रोत्साहन मिलता है। वैश्विक मानकों के अनुरूप समावेशी, और सभी के लिए शिक्षा तक पहुंच बनाने जैसे मूल स्तंभों पर ध्यान केंद्रित करता है।

आरएनटीयू के बारे में रवींद्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय भारत का पहला कौशल-आधारित निजी विश्वविद्यालय है जो कौशल-आधारित और अनुसंधान आधारित गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करके सफल पेशेवर तैयार करने का कार्य कर रहा है। आईसेक्ट समूह द्वारा वर्ष 2010 में स्थापित आरएनटीयू ने मध्य भारत में अपने लिए एक अलग जगह बनाई है। मजबूत उद्योग संबंधों के साथ रवींद्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय का ध्यान छात्रों को समग्र शिक्षण और विकास प्रदान करना है जिससे ज्ञान का पूर्ण उपयोग कर वे अपने बेहतर भविष्य को सुनिश्चित कर सकें।

Related posts

Xiaomi’s powerful phones can be bought cheaply, there is a discount of several thousand

aajtaksamachar

Merck Foundation CEO Conducted a Premier of Their TV Program “Our Africa” During Her Visit to Ghana

aajtaksamachar

शरवरी वाघ आईफा अवार्ड्स 2022 के लिए बैकलेस हाल्टर एम्ब्रॉएडर्ड गाउन में एक शानदार मरमेड हैं जो जीवन में आई हैं

aajtaksamachar

Leave a Comment